Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi

Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi :- नमस्ते दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक नए आर्टिकल में और आज के इस लेख में हम गंगूबाई कठियावाडी के बारे में विस्तार सी जानने वाले हैं। दोस्तों आज भी भारत में ऐसी बहुत सी कहानिया हैं जो दफन है कभी उन कहानियों का कोई भी जिक्र नहीं करता है लेकिन आज इस लेख में हम गंगूबाई कठियावाड़ी की रियल स्टोरी को रूबरू कराने वाले हैं।

दोस्तों Gangubai Kathiawadi के ऊपर न्यू movie बनाया गया है जिसका ट्रैलर पिछले दिन ही रिलीज किया गया है और इस ट्रैलर को देखने के बाद सभी दर्शक और आपके मन में भी ये विचार जरूर आया होगा की आखिर Gangubai Kathiawadi Kaun Hai, तथा इनके पीछे आखिर क्या राज है है जिससे की इनके ऊपर एक मूवी बना दी गई है।

तो दोस्तों आज के इस लेख में हम गंगूबाई कठियावड़ी की रियल स्टोरी तथा इस मूवी से संबंधित आपके जितने भी प्रश्न है उन सभी के सही उत्तर इसी लेख में मिलने वाला है, आप इस छोटे से लेख को पूरा जरूर पढ़ने। तो चलिए शुरू करते हैं।

गंगूबाई कठियावड़ी कौन थी? Gangubai Kathiawadi Kaun Thi

आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि गंगूबाई कठियावड़ी का असली नाम गंगा हरजीवनदास कठियावड़ी है। इनका जन्म गुजरात के कठियावड़ी गाँव में सन् 1939 में हुआ था। गंगुबाई कठियावड़ी के भारत के कई शहरों में फ्रेंचाइजी कोठे खोलेने वाली पहली भारतिए महिला थी। गंगूबाइ मुंबई के हीरामंडी नाम की जगह पर अपना कोठा चलाती थी। वहाँ पर इन्हें ज्यादातर लोग कमाठीपुरा की मैडम नाम से जानते थे।

बता दें की गंगूबाई का दबदबा पूरे शहर में था लोग इनसे मुसीबत मोल लेने से काफी ज्यादा डरते थे। हालांकि आज के समय में ये बातें बीत चुकी है लेकिन इसी चीज से प्रभावित होकर हुसैन जैदी नें इन्हीं के ऊपर ‘Mafia Queens of Mumbai‘ नाम से एक किताब लिखी है, तथा उस किताब की स्टोरी से प्रभावित होकर संजय लीला भंसाली नें बॉलीवुड ऐक्ट्रेस आलिया भट्ट के साथ मिलकर गंगूबाई कठियावाड़ी के जीवन परिचय पर एक फिल्म बना दी है जिसका ट्रैलर रिलीज हो चुका है तथा फिल्म भी जल्द ही रिलीज होने वाली है।

Gangubai Kathiawadi Story in Hindi

असली नाम गंगा हरजीवनदस
उपनाम गंगूबाई उर्फ गंगू
जन्म 1939
स्थान गुजरात
पेशा लेडी डॉन तथा कोठा चलाना
जाति कठियावड़ी
शिक्षा 5th पास
विवाहित/अविवाहित विवाहित
पति का नाम रमणीक लाल
मृत्यु
Biography of Gangubai Kathiawadi in Hindi

Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi

प्रसिद्ध लेखक हुसैन जैदी के द्वारा लिखी गई किताब के अनुसार गंगूबाई कठियावाड़ी का जन्म गुजरात के एक छोटे से गाँव कठियावाड़ी में सन् 1939 में हुआ था इनकी प्रारम्भिक शिक्षा दिक्षा इनके माता पिता के साथ गुजरात में ही हुई। जब गंगू की उम्र 16 साल की हो जाती है तब गंगू अपने उम्र से काफी बड़े लड़के के प्यार में पड़ जाती है और फिर घर वालों के खिलाफ ही वह उस लड़के से शादी कर लेती है। आगे पूरी स्टोरी पढ़ें –

गंगू बचपन से ही पढ़ाई लिखाई में काफी होशियार थी साथ ही साथ उन्हें एक अभिनेत्री बनने का भी सपने था बस इस सपने को सच करने के लिए वह किसी भी तरह से बाम्बे जाना चाहती थी। गंगू के पिताजी की एक दुकान थी जिस दुकान में गंगू के पिताजी नें एक नया अकाउंटेंट रखा था और वह अकाउंटेंट पहले से ही कई साल बाम्बे में रहकर आ चुका था जिसका नाम रमणीक लाल था।

गंगू को जैसे ही इन सभी बातों का पता चला ही उनके पिता जी जो की बाम्बे में कई साल रहकर आया हुआ रमणीक भी उनके पिता की दुकान में काम कर रहा है फिर गंगू के मन में रमणीक लाल से दोस्ती करने का विचार आया। और फिर वही हुआ की गंगू ने रमणीक लाल से दोस्ती कर ली और धीरे धीरे यह दोस्तों प्यार में बदल गई। और जब कुछ दिनों बाद गंगू नें अपने इस प्यार की चर्चा अपने माता पिता से किया और कहा हम दोनो शादी करना चाहते है तब इनके माता पिता इस शादी के खिलाफ थे।

इसके बाद फिर क्या होना था प्यार के आगे किसी की बस कहाँ चलती है, गंगू और रमणीक नें भागकर शादी कर ली, और गंगू का रमणीक के साथ भागकर शादी करने का एकमात्र यही कारण था की वह किसी तरह बाम्बे जा सकते और आखिरकार वे दोनों वहाँ से भागकर बाम्बे चले गए। इसके बाद कुछ दिनों तक तो ये दोनो खुश थे लेकिन धीरे धीरे गंगू को उनके पति रमणीक का असली चेहरा साफ दिखाई देने लगा और छोटी छोटी बातों पर झगड़े होना शुरू हो गए थे।

इसके कुछ दिन बाद रमणीक ने गंगा से कहा की वह काम करने और पैसे कमाने के लिए बाम्बे से बाहर जा रहा हु तब तक के लिए कुछ दिन मौसी के घर में रह लेना और गंगा बहु उनकी इस बात से सहमत हो गई लेकिन रमणीक गंगा को मौसी के घर के बहाने से एक वैश्यालय में छोड़ आये और रमणीक वहाँ से दूसरे शहर के लिए रवाना हो गए।

इसके बाद अब ऐसे ही दिन बीतते चले गए और फिर तब तक गंगू को भी यह ज्ञात हो चुका था की अब रमणीक वापस नहीं आएंगे और साथ ही साथ वह जहां पर रह रही है वह उनकी मौसी का घर नहीं बल्कि एक वैश्यालय है, अब वह इस मजबूर हालात में अपने घर भी नहीं जा सकती थी। और महानीकन उसे उसी वैश्यालय में अपना गुजर बसर करना पड़ता था। जब से गंगा कोठे पर पर आई थी तभी से वह चर्चे में थी और लोग उसे गंगू कहकर बुलाते थे। इसी इसी से इनकी असली कहानी की शुरुआत हुई।

Gangubai Kathiawadi Movie Story in Hindi

दोस्तों आप अब तक गंगूबाई कठियावड़ी के बारे में तो जान ही चुके है तो अभी हम इसी पर न्यू रिलीज होने वाली मूवी के बारे में भी बात कर लेते हैं। गंगूबाई कठियावड़ी के इस कहानी से inspire होके संजय लीला भंसाली के द्वारा Gangubai Kathiawadi नाम से एक न्यू मूवी रिलीज हो चुकी है जिसमें आपको मुख्य किरदार आलिया भट्ट, अजय देवगन, तथा इमरान हाशमी देखने को मिलेंगे।

FAQ

गंगूबाई कठियावड़ी कौन है?

गंगूबाई कठियावड़ी गुजरात की रहने वाली एक सीधी साधी लड़की थी जो अब वह मुंबई के अंदर माफिया क्वीन नाम से जानी जाती है।

गंगूबाई कठियावड़ी का जन्म कब और कहाँ पर हुआ था?

गंगूबाई का जन्म सन 1939 में गुजरात में हुआ था।

Gangubai Movie Kab Release Hogi?

इस फिल्म का ट्रैलर रिलीज हो चुका है तथा अब यह फुल मूवी 25 फरवरी 2022 को रिलीज होने वाली है।

गंगूबाई के पति का नाम क्या था?

गंगूबाई के पति का नाम रमणीक था।

दोस्तों मुझे आशा है की आपको यह लेख (Gangubai Kathiawadi Biography in Hindi) पसंद आया होगा आप इस लेख को अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरूर करना तथा इस पोस्ट से संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेन्ट भी कर सकते हैं।

3 thoughts on “Gangubai Kathiawadi Real Story in Hindi”

  1. Pingback: Shaktiman Movie Cast New in Hindi - Upcoming Release

Leave a Comment